आसाराम बापू के समर्थकों के लिए आई बुरी ख़बर, जेल में तबियत बिगड़ने से…

0
1480

80 साल के आसाराम बापू जेल में उम्र कैद की सजा काट रहे हैं कोरोना संक्रमित होने के बाद आसाराम बापू की तबीयत लगातार बिगड़ती जा रही है. गुरुवार को जिला न्यायालय में इनकी पेशी थी. यहां पर यह काफी कमजोर नजर आ रहे थे.आसाराम बापू में अब अपने बल पर चलने की ताकत भी नहीं बची है. वह पुलिस कर्मियों का सहारा लेकर चलते नजर आए. पुलिस की गाड़ी से उतर कर अदालत जाने तक अब उनको पुलिस कर्मियों का सहारा लेना पड़ता है.

इन दिनों आसाराम बापू अपनी बिगड़ती तबीयत को लेकर उनके समर्थक भी परेशान नजर आ रहे. वह बार-बार पुलिसकर्मियों से यह पूछने को मजबूर हैं कि डॉक्टर अरुण त्यागी कब उनके इलाज के लिए आ रहे हैं. तब पुलिसकर्मियों में से एक पुलिसकर्मी ने आसाराम बापू को कहा कि वह कोर्ट को कहें कोर्ट उनके इलाज के लिए डॉक्टर अरुण त्यागी को आदेश देगी. गौरतलब है कि इस बीच आसाराम को बहुत ही धीरे धीरे चलते हुए कोर्ट में जाते स्पॉट किया गया था. जबकि इससे पहले हुई पेशी के दौरान जब आसाराम बापू को कोर्ट ले जाया गया था तो वह पुलिस की गाड़ी से उतर कर खुद कोर्ट तक चल कर जाने के समर्थ थे. लेकिन 5 मई को कोरोना की चपेट में आ जाने के कारण वह शारीरिक रूप से अस्वस्थ है.

जानकारी के लिए बता दें कि आसाराम शुरू से ही अपना इलाज आयुर्वेद से करवाते आए है. इसे पहले जब आसाराम बापू की गिरफ्तारी हुई थी, तो उनकी वैद्य नेता उनको आयुर्वेदिक दवा देने के लिए जोधपुर आई थी. यौन शोषण मामले की सुनवाई के दौरान उनको एक बार आयुर्वेदिक विश्वविद्यालय में भर्ती करवाया गया था. लेकिन सजा मिलने के बाद कोर्ट के निर्देशों अनुसार उन्हें जोधपुर में ही आयुर्वेदिक उपचार दिया जा रहा है. उनका उपचार फ़िलहाल डॉक्टर अरुण त्यागी कर रहे हैं.

हालांकि कोरोना की चपेट में आने के बाद उनको एम्स में भी नियमित चेकअप के लिए ले जाया जाता है. लेकिन यहां उन्होंने पर वह कई बार अंग्रेजी दवाई लेने से इंकार कर चुके है. वर्तमान में उन्हें यूरीन इन्फेक्शन और पेट से जुड़ी परेशानियां हैं. गौरतलब है कि एक समय ऐसा भी था जब आसाराम के दरबार में बड़ी-बड़ी हस्तियां हाजिरी लगाती थीं. लाखों की तादाद में इनके अनुयायी हैं. लेकिन 2013 में रेप के मामले में फंसने के बाद आसाराम के बुरे दिन शुरू हो गए थे. इससे पहले आसाराम बापू ने अपनी सेहत का हवाला देते हुए बेल की मांग की थी. लेकिन वर्तमान में, वह जोधपुर जेल में अपनी सजा काट रहे है. उन्होंने अपनी सजा के खिलाफ राजस्थान उच्च न्यायालय में अपील भी दायर की थी. बताते चले कि साल 2013 में, 16 वर्षीय नाबालिग लड़की ने आसाराम पर जोधपुर के पास मणाई आश्रम में उसके साथ बलात्कार करने का आरोप लगाया था. जिसके बाद साल 2014 में उन्हें गिरफ्तार किया गया था.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here